IMG-20211009-WA0003-removebg-preview-1.png

GEEKEN CHEMICALS :- दोस्तों जनवरी का महीना सब्जियों के लिए सबसे अच्छा माना जाता है।  इस महीने में किसान अलग – अलग तरह की सब्जियों की खेती करते है।  ऐसे में आज हम 5 ऐसी सब्जियों के बारे में बताने जा रहे है , जिनकी खेती जनवरी महीने में करने से बहुत फायदा मिलेगा। यह ऐसी फसलें है जिनकी ग्रोथ भी जनवरी के महीने में अच्छे से होती है।  अगर आप किसान है और सब्जियों की खेती बेहतर तरीके से करना चाहते है तो यह कुछ ऐसी सब्जियां है जिनसे अच्छी कमाई की जा सकती है।  आज हम आपको एक सब्जी की खेती करने के एक ऐसे मॉडल के बारे में बताने जा रहे है , जिसके माध्यम से मात्र 20 दिन में कमाई की जा सकती है। 

आप यह ब्लॉग GEEKEN CHEMICALS के द्वारा पढ़ रहे है।  हम आपके लिए कृषि से जुड़ी जानकारी को पहुंचाने का काम करते है। आप अगर बेहतर तरीके से अपनी खेती को आगे बढ़ाना चाहते है तो GEEKEN CHEMICALS के द्वारा बने कीटनाशक का प्रयोग कर सकते है।  भारत में 10 लाख से भी ज्यादा किसान आज GEEKEN CHEMICALS के द्वारा बने कीटनाशक का प्रयोग कर रहे है। 

किसान भाइयों आज के समय में बहुत सी ऐसी फसलें है जिनकी खेती हम करते रहते है , ऐसे में कुछ ऐसी फसलें है , जिनसे अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है।  इन्ही सब्जियों में शामिल है भिंडी की खेती जो कम समय में अधिक मुनाफा दिलवा सकती है। 

Contents

जनवरी में भिंडी की खेती  :-

भिंडी की खेती भारत में प्रमुखता से की जाती है।  भारत के किसान इसकी खेती करके अच्छा मुनाफा कमा सकते है।  ऐसे में किसान अगर इसकी खेती करते है तो अच्छा पैसा कमाया जा सकता है।  जनवरी के महीने की बात करें तो भिंडी की खेती आसानी से की जा सकती है। कमाई की दृष्टि से भिंडी सबसे अच्छी फसल है।  जनवरी के महीने में इसको लगाने पर किसान मार्च तक इसे बढ़िया रेट पर बेच सकते है।  भिंडी स्वस्थ्य के साथ – साथ इसमें कई पोषक तत्व मौजूद होते है। कृषि वैज्ञानिक आज के समय में अलग – अलग तरह से भिंडी की फसल पर रिसर्च कर रहे है , जिससे इसका उत्पादन अच्छे से प्राप्त हो सके। 

जनवरी में करेले की खेती :-

किसान भाइयों औषधीय गुणों के कारण करेले की मांग भी हमेशा रहती है। आज के समय में करेले की कई किस्में हमारे बाजारों में उपलब्ध है , जिन्हे हम किसी भी मौसम में ऊगा सकते है। करेले का सेवन  पाचन, डायबिटीज, ब्लड प्रेशर और गठिया की बीमारी में काफी लाभदायक है।  करेला के बीज से हम दवाई भी बनाते है।  आज के समय में करेले की मांग भी लगातार बढ़ती जा रही है , ऐसे में किसान इसकी खेती करके अच्छा मुनाफा कमा सकते है।

जनवरी के महीने में करेले की खेती कम समय में अच्छा मुनाफा दे सकती है और इसकी मांग भी साल भर बनी रहती है।  ऐसे में करेला की खेती सबसे फायदेमंद  फसल की खेती के रूप में करते है। 

जनवरी में राजमा की खेती :-

राजमा की खेती हम बहुत बड़े भू – भाग में करते है।  भारत के किसान इसकी खेती कम भूमि में भी आसानी से कर सकते है।  राजमा की खेती जनवरी के महीने में की जाती है। किसान भाइयों को यह ध्यान रखना होगा की इस महीने में पौधे को पाला न लगने पाए।  पला लगने पर पौधा पूरी तरह से सूखने लगता है ,जिसकी वजह से इसकी पैदावार कम होती है।  राजमा पोषक तत्व से भरपूर होता है इसकी मांग भी बाजारों में हमेशा रहती है।  राजमा की खेती हम दलहनी फसल के रूप में करते है। राजमा के सेवन से कई तरह के फायदे होते है। भारत में राजमा की खेती ज्यादातर पहाड़ी क्षेत्र में किया जाता है। भारत में महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु जैसे राज्यों में इसकी खेती की जाती है। 

यह भी पढ़ें :- ऐसे करें पालक की खेती मेहनत कम कमाई होगी ज्यादा

जनवरी में प्याज की खेती :-

किसान भाइयों प्याज की मांग हमेशा रहती है , इसकी खेती भारत के सभी क्षेत्र में की जाती है।  प्याज की रोपाई 17 जनवरी तक की जा सकती है , जिससे किसान अच्छी आमदनी की जा सकती है।  प्याज की खेती क्यारियों से करना चाहिए।  इसकी खेती करते समय 10 -20 सेमी की दूरी पर की जाती है।  प्याज की बुवाई हमें सिंचाई करने के बाद कर सकते है।  प्याज की बुवाई किसान भाइयों को शाम के समय में करनी चाहिए।  बुवाई के तुरंत बाद इसकी सिंचाई कर दें , जिससे पौधे जल्दी से जमीन में पकड़ लें।

जनवरी में लोबिया की खेती :-

किसान भाइयों लोबिया की खेती भी भारत में इस समय प्रमुखता से की जा रही है।  इसकी खेती करके किसान अच्छा लाभ कमा रहें है।  इसकी खेती दलहनी फसल के रूप में की जाती है।  किसान भाइयों को इसका लाभ दो तरीके से मिल सकता है।  लोबिया के फलियों से सब्जी बनाया जाता है , वहीं कुछ जगहों पर लोबिया का प्रयोग हम पशुचारा और हरी खाद के रूप में भी करते है।  भारत के अलग – अलग राज्यों में इसे कई नामों से जाना जाता है कहीं पर इसे बोड़ा, चौला या चौरा, करामणि, काऊपीस भी कहा जाता है।  लोबिया का पौधा सफ़ेद रंग का होता है और इसकी फलियां पतली और लंबी होती है इसके फल लंबे और चौड़े होते है। 

यह भी पढ़ें :- धनिया की खेती कैसे करते है , यहां जानिए धनिया की खेती करने का तरीका

निष्कर्ष :-

दोस्तों आज के इस ब्लॉग में हमने जाना की ऐसी कौन सी सब्जियां है जिसकी पैदावार बहुत कम समय में हो सकती है।  आशा है कि किसान भाइयों को हमारा यह ब्लॉग पसंद आया होगा इसलिए ब्लॉग को शेयर करना न भूलें।  किसान भाइयों अगर आप अपने फसलों में बार – बार लगने वाले रोगों से परेशान है , या फिर फसल लगाने के कुछ दिन बाद ही आपके खेत में खरपतवार दिखाई पड़ रहा है तो जल्द ही अपने घर लाएं GEEKEN CHEMICALS के द्वारा बने कीटनाशक।  GEEKEN CHEMICALS के द्वारा बने प्रोडक्ट कम समय में अपना काम शुरू करता है और रोगों , कीटों को खत्म करता है।  अगर आप GEEKEN CHEMICALS से जुड़ी किसी भी तरह की जानकारी चाहतें है तो कॉल(+91 – 9999570297) करें।