IMG-20211009-WA0003-removebg-preview-1.png
किसी भी फसल की खेती अगर नई तकनीकी और और बीजों का सही तरह से चुनाव करके किये जाये तो किसान कम लागत में भी अच्छा पैसा कमा सकते है।  इसके लिए किसान भाइयों को सिर्फ और सिर्फ सही समय का चुनाव करना होगा , जिससे वह घर से ही लाखों की कमाई कर सकते है। लॉक डाउन के बाद से देखा जा रहा है कि देश के युवा भी लगातार खेती के लिए आगे आरहें है।  लेकिन उन्हें इस खेती की अच्छी तरह से जानकारी न होने के कारण कई तरह के दिक्क्तों का सामना करना पड़ता है।  इसलिए GEEKEN CHEMICALS आपके लिए लेकर आया है सभी फसलों की बेहतरीन तरीके से जानकारी।  जिससे न सिर्फ अच्छे से खेती कर सकते है बल्कि अच्छी आमदनी कर सकते है।

आज हम GEEKEN CHEMICALS के माध्यम से लहसुन की खेती के बारें में बताएँगे। आप भी अगर लहसुन की खेती करने जा रहें है तो, हमारे इस ब्लॉग को पूरा पढ़ें।  जिससे आपको इसके बारें में अच्छे से जानकारी हो सकें।  लहसुन की खेती को हम सभी फसलों में सबसे लाभकारी मानते है।  लहसुन की खेती करके किसान भाई महीने के लाखों रूपये कमा सकते है।  लहसुन की खेती कब और कैसे करना चाहिए, अगर आप कम जमीन पर इसकी खेती कर रहें है तो इसके लिए आपको कौन से तरीके अपनाना चाहिए। आइये लहसुन की खेती से जुडी हर छोटी बड़ी जानकारी के बारें में जानते है।

और पढ़े-: धान की फसल में लग रहा है झुलसा या बलास्ट रोग तो जानिए कैसे कर सकते है इसका उचित प्रबंधन

Contents

लहसुन की खेती कब की जाती है ? (Garlic Farming in India)

लहसुन का इस्तेमाल हम चटनी , पाउडर , आचार , समेत अलग – अलग तरह की सब्जियों में करते है।  इसी वजह से लहसुन की मांग हमेशा बनी रहती है। लेकिन कृषि एक्सपर्ट कि मानें तो इसकी खेती क्षेत्र के अनकूल मौसम के अनुसार करना चाहिए।  अगर उत्तर भारत की बात किया जाये तो इसकी खेती अक्टूबर – नवम्बर महीने में करनी चाहिए। वहीँ पर्वतीय क्षेत्रों में इसकी खेती मार्च – अप्रैल महीने में किया जाना चाहिए।  अगर हम भारत की बात करें तो यहां के सभी क्षेत्रों में लहसुन की खेती की जाती है।  लहसुन एक कंद वाली मसाला फसल है।  किसान इसकी कलियों को ही बीज के रूप में बुवाई करते है।

लहसुन में एक तरह का एलसिन नामक तत्व पाया जाता है , जो तत्व गंध और स्वाद की जिम्मेदार होती है।  लहसुन का इस्तेमाल हम गले तथा पेट से सम्बंधित बीमारी में भी करते है।  अगर आप प्रतिदिन लहुसन के एक कली को खाएंगे तो यह हाई ब्लड प्रेशर, पेट के विकारों, पाचन विकृतियों, फेफड़े के लिये, कैंसर व गठिया की बीमारी, नपुंसकता तथा खून की बीमारी को कम करेगा।  इसकी खेती के लिए मध्यम तापमान सबसे अच्छा माना जाता है। अगर किसान भाई लहसुन की खेती कर रहें है तो  29.35 डिग्री सेल्सियस तापमान होना आवश्यक है।

कौन सी मिट्टी और जलवायु सही है ? (Garlic Cultivation)

लहसुन की खेती करने के लिए किसान को ठंड का मौसम अच्छा माना जाता है , गर्म जलवायु में इसकी खेती करने पर फसल को नुकसान पहुँचता है। किसान को मिटटी का सही तरीके से चयन करना चाहिए , नहीं तो इससे भी फसल को नुकसान पहुँचता है।  लहसुन की खेती के लिए कृषि एक्सपर्ट की मानें तो  दोमट या फिर चिकनी मिट्टी सबसे अच्छी होती है।  जब भी आप लहसुन की खेती करने जाएँ तो ध्यान रहें कि जैविक पदार्थ की मात्रा अधिक डालें क्योंकि यह लहसुन के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है।  लहसुन की खेती के लिए जमीन का नमी होना जरुरी है, ऐसे समत्य में आप पहले खेत को पलेव कर दें।

लहसुन की बुवाई कैसे करें ? (Garlic Farming Techniques)

लहसुन की खेती समतल क्यारियों में मेड़ों पर पौधशाला में लहसुन की खेती की जा सकती है।  पौधशाला में वैसे तो बहुत कम देखने को मिलती है भारत में ज्यादातर इसकी खेती  क्यारियों और मेंड़ों पर ही की जाती है।  यदि आप समतल जगह पर इसकी खेती करते है तो इसकी कलियों को 10 से.मी.लाइन से लाइन तथा 7-8 से.मी. पौधे से पौधे की दूरी पर करना चाहिए।  बुवाई करते समय मेड़ो की कलियों में 10 सेमी की दुरी रखनी चाहिए।

लहसुन की खेती के लिए सिंचाई

लहसुन की फसल के लिए समय – समय पर सिचाई करना जरुरी है।  बुवाई के समय हमें यह ध्यान देना है कि,खेत में नमी होना जरुरी है। आप बुवाई के कुछ दिन बाद हल्की सी सिचाई कर सकते है।  जब लहसुन की फसल पक जाये तो एक बार 9-10 दिन पहले सिचाई जरूर कर दें।

कब करें लहसुन फसल की खुदाई

इसकी खुदाई कब करनी चाहिए आप लहसुन की पत्तियों को देखकर अंदाजा लगा सकते है।  जब भी लहसुन की पत्तियों का रंग पीला पड़ने लगे और वह जमीन पर गिरने लगें , तब लहसुन की फसल की खुदाई कर देनी चाहिए।  जब आप लहसुन की खुदाई कर लें तो इसे ऐसी जगह पर रहें जहां धुप न आता हो।  जिसके बाद आप कंद से पत्तियों को काटकर इसे उपयोग में ला सकते है।

और पढ़े-:  A Fungicide to prevent potato growing problems

निष्कर्ष 

दोस्तों आज हमने जाना की लहसुन की खेती कैसे करते है।  आशा है आप सभी को हमारी यह जानकारी अच्छी लगी होगी।  आप हमारे इस ब्लॉग को अपने सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर भी कर सकते है। GEEKEN CHEMICALS आपके लिए इसी तरह से ब्लॉग लाता रहेगा।  अगर आप GEEKEN CHEMICALS के Best Quality Pesticide Products Manufacturers प्रोडक्ट को खरीदना चाहते है इसके लिए आप हमारे दिए हुए नंबर पर (+91-9999570297) पर कॉल भी कर सकते है|